युवराज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया, कहा- 2011 वर्ल्ड कप जीतना जिंदगी का सबसे बड़ा लम्हा 2011 World Cup's Hero Yuvraj Singh

युवराज ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया, कहा- 2011 वर्ल्ड कप जीतना जिंदगी का सबसे बड़ा लम्हा
Image Credit ICC Twitter

भारत को 2011  वर्ल्डकप जीताने में अहम भूमिका निभाने वाले युवराज सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास ले लिया है  युवराज सिंह ने 2011  वर्ल्ड कप में 90 .50  के औसत से 362  रन बनाये और 15  विकेट अपने नाम करे युवराज सिंह उस वर्ल्ड कप में प्लेयर ऑफ़ दा सीरीज भी चुने गए थे 
वर्ल्ड कप 2011  के दौरान युवराज सिंह कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे हालाँकि उन्होंने इस बात का किसी को पता नहीं चलने दिया हालाँकि डॉक्टर्स ने उनको न खेलने की सलाह दी थी लेकिन वो न सिर्फ मैदान पर खेलने उतरे बल्कि वो भारत की जीत के हीरो भी रहे उन्होंने उस मैच में 57  रन की पारी खेली थी 
Image Credit ICC

युवराज सिंह के नाम है 17  इंटरनेशनल शतक 

युवराज ने 40 टेस्ट की 62 पारियों में 33.92 के औसत से 1900 रन बनाए हैं। इसमें 3 शतक और 11 अर्धशतक भी हैं। उन्होंने 304 वनडे की 278 पारियों में 36.55 के औसत से 8701 रन बनाए। उन्होंने वनडे इंटरनेशनल में 14 शतक और 52 अर्धशतक लगाए हैं। युवराज ने 58 टी-20 इंटरनेशनल भी खेले। इसमें 28.02 के औसत से 1177 रन बनाए। उन्होंने टेस्ट में 9, वनडे में 111 और टी-20 इंटरनेशनल में 28 विकेट भी लिए हैं।

वर्ल्ड कप जीतना मेरे लिए सपने की तरह था : युवराज
सन्यास की घोसणा करते हुए युवराज सिंह ने कहा मै हमेशा से ही अपने पिता के नक्शेकदम पर चला हु और देश के लिए खेलने के लिए उनके सपने का पीछा किया मेरे फैंस जिन्होंने मेरा समर्थन किया था मै उनका सुक्रिया अदा नहीं कर सकता मेरे लिए 2011  वर्ल्ड कप जीतना और उसमे प्लेयर ऑफ़ दा सीरीज रहना एक सपने की तरह था इसके बाद मुझे कैंसर की बीमारी हो गयी यह ऐसा समय था आसमान से जमीन पर आने जैसा था उस वक़्त मेरा परिवार और मेरे फैंस मेरे साथ थे 

कभी सोचा नहीं था मैंने की देश के लिए खेलूंगा - युवराज 

न्होंने कहा, ‘एक क्रिकेटर के तौर पर सफर शुरू करते वक्त मैंने कभी नहीं सोचा था कि कभी भारत के लिए खेलूंगा। लाहौर में 2004 में मैने पहला शतक लगाया था। टी-20 वर्ल्ड कप में 6 गेंदों में 6 छक्के लगाना भी यादगार था। 2014 में टी-20 फाइनल मेरे जीवन का सबसे खराब मैच था। तब मैंने सोच लिया था कि मेरा क्रिकेट करियर खत्म हो गया है। तब मैं थोड़ा रुका और सोचा कि क्रिकेट खेलना शुरू क्यों किया था।’


ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ छक्का लगाकर वापसी की

‘डेढ़ साल बाद मैंने टी-20 में वापसी की। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी ओवर में छक्का लगाया। 3 साल बाद मैंने वनडे में वापसी की। 2017 में कटक में मैंने 150 रन बनाए, जो मेरे करियर का सबसे बड़ा वनडे स्कोर है। मैंने हमेशा खुद पर भरोसा रखा। कोई मायने नहीं रखता कि दुनिया क्या कहती है।’

सफलता और मौके दोनों नहीं मिल रहे थे

‘मैंने सौरव गांगुली की कप्तानी में अपना करियर शुरू किया था। सचिन, राहुल, अनिल और श्रीनाथ जैसे लीजेंड के साथ मैंने क्रिकेट खेला। जहीर, वीरू, गौतम, भज्जी जैसे मैच विनर्स के साथ खेला।’  संन्यास के फैसले पर युवराज ने कहा, ‘सफलता भी नहीं मिल रही थी और मौके भी नहीं मिल रहे थे। 2000 में करियर शुरू हुआ था और 19 साल हो गए थे। उलझन थी कि करियर कैसे खत्म करना है। सोचा कि पिछला टी-20 जो जीते हैं, उसके साथ खत्म करता तो अच्छा होता, लेकिन सबकुछ सोचा हुआ नहीं होता। जीवन में एक वक्त आता है कि वह तय कर लेता है कि अब किधर जाना है।’

10 हजार रन बनाने के बारे में कभी नहीं सोचा था

उन्होंने कहा, ‘मेरे करियर का सबसे बड़ा लम्हा 2011 वर्ल्ड कप जीतना था। जब मैंने पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 84 रन बनाए थे, तब वह करियर का बड़ा मोड़ था। इसके बाद कई मैच में फेल हुआ, लेकिन बार-बार मौके मिले। मैंने कभी 10 हजार रन बनाने के बारे में नहीं सोचा था, लेकिन वर्ल्ड कप जीतना खास था। मैन ऑफ द सीरीज रहना, 10 हजार रन बनाना, इससे ज्यादा खास था वर्ल्ड कप जीतना। यह केवल मेरा नहीं, बल्कि पूरी टीम का सपना था।'

संन्यास को लेकर मां और पत्नी से भी बात की

‘मैं 2 साल से संन्यास पर मां और पत्नी से बात कर रहा था। पिता ने कहा कि जब कपिल देव को वर्ल्ड कप के लिए नहीं चुना गया होगा, तो उन्होंने क्या सोचा होगा, लेकिन जब तुमने वर्ल्ड कप जीता था, तब वे कितने खुश हुए होंगे। मेरे पिता को मेरे संन्यास लेने के फैसले पर कोई परेशानी नहीं हुई।’

Comments

Popular posts from this blog

AUS vs BAN Dream11 Team Prediction, WorldCup 2019, Team News, Playing 11

AFGH vs WI Dream11 Team Prediction, Worldcup 2019, Team News, Playing 11

ENG vs SL Dream11 Team Prediction, WorldCup 2019, Team News, Playing 11